Top News:

पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में भी बिना सवाल-जवाब के लौटे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी



लोकसभा चुनाव 2019 के चुनाव प्रचार का आखिरी दिन ऐतिहासिक रहा. जो पिछले पांच साल में कभी देखने को नहीं मिला, वो चुनाव प्रचार के आखिरी दिन हुआ. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के साथ 5 साल में पहली बार पार्टी मुख्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस किया. हालांकि नरेंद्र मोदी ने किसी भी पत्रकार के सवाल का जवाब नहीं दिया. उन्होंने कहा कि सभी सवालों के जवाब भाजपा अध्यक्ष अमित शाह देंगे. सभी सवालों के जवाब अमित शाह दे रहे थे. लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्रेस कॉन्फ्रेंस में मौजूद जरूर रहे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि ये चुनाव सकारात्मक और शानदार रहा है. वह इस बार प्रचार नहीं कर रहे थे बल्कि लोगों का धन्यवाद कर रहे थे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जब मैं चुनाव के लिए निकला और मन बनाकर निकला था और अपने को उसी धार पर रखा. मैंने देशवासियों को कहा था कि 5 साल मुझे देश ने जो आशीर्वाद दिया उसके लिए मैं धन्यवाद देने आया हूं. अनेक उतार चढ़ाव आए, लेकिन देश साथ रहा. मेरे लिए चुनाव जनता को धन्यवाद ज्ञापन था.

नई सरकार बनाना जनता ने तय कर लिया है. हमने संकल्प पत्र में देश को आगे ले जाने के लिए कई बातें कही हैं. जितना जल्दी होगा, उतना जल्दी नई सरकार अपना कार्यभार लेगी. एक के बाद एक करके निर्णय हम लेंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश में एक बार फिर से पूर्ण बहुमत के साथ बीजेपी की सरकार बनेगी. प्रधानमंत्री ने कहा कि लंबे समय बाद देश में कोई पार्टी लगातार दूसरी बार चुनाव जीतकर आ रही है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मैं मानता हूं कि कुछ बातें हम गर्व के साथ दुनिया से कह सकते हैं. ये दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है, ये लोकत्रंत की ताकत दुनिया के सामने ले जाना हम सबका दायित्व है. हमें विश्व को प्रभावित करना चाहिए कि हमारा लोकतंत्र कितनी विविधताओं से भरा है.

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि 17 मई को ही ईमानदार सरकार की शुरुआत हो गई थी. 2014 लोकसभा चुनाव का जिक्र करते हुए पीएम ने कहा कि 16 मई को नतीजे आए थे, 17 मई को मोदी के आते ही भ्रष्टाचारियों को इसकी कीमत चुकानी पड़ी. सत्ता मार्किट में तब कांग्रेस का रेट 18 रहा था और बीजेपी का 75 था. इन सभी को नुकसान हुआ. जुआरियों को पहला झटका लगा.